Homeझारखण्डपद्मश्री को अस्वीकार करने वाली प्रख्यात लेखिका और ओडिशा सीएम नवीन पटनायक...

पद्मश्री को अस्वीकार करने वाली प्रख्यात लेखिका और ओडिशा सीएम नवीन पटनायक की बहन का निधन, झारखण्ड सीएम ने जताया शोक

प्रख्यात लेखिका, पत्रकार और ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की बड़ी बहन गीता मेहता का शनिवार शाम दिल्ली में निधन हो गया।वह 80 वर्ष की थीं और काफी समय से बीमार चल रही थीं। गीता के परिवार में उनके बेटे अजय सिंह मेहता हैं।प्रमुख राजनेता बीजू पटनायक की बेटी गीता का विवाह प्रसिद्ध अमेरिकी प्रकाशक स्वर्गीय सन्नी मेहता से हुआ था, जिनका दिसंबर 2019 में 77 वर्ष की आयु में मैनहट्टन में निधन हो गया।उनके निधन की खबर मिलते ही नवीन पटनायक दिल्ली के लिए रवाना हो गए.झारखण्ड सीएम Hemant Soren ने शोक जताया”प्रख्यात लेखिका, डॉक्यूमेंट्री फिल्ममेकर और पत्रकार श्रीमती गीता मेहता जी के निधन का दुःखद समाचार मिला। स्व गीता जी, ओडिशा के माननीय मुख्यमंत्री आदरणीय श्री @Naveen_Odisha जी की बहन भी थीं।परमात्मा दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान कर शोकाकुल नवीन जी और उनके परिवारजनों को दुःख की यह विकट घड़ी सहन करने की शक्ति दे।”

1943 में दिल्ली में बीजू और ज्ञान पटनायक के घर जन्मी गीता ने यूके में कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय में जाने से पहले भारत में पढ़ाई की, जहां उनकी मुलाकात अपने भावी पति सोनी मेहता से हुई, जो बाद में प्रसिद्ध प्रकाशन गृह अल्फ्रेड ए नोपफ के अध्यक्ष बने। .1979 में, गीता ने अपनी पहली पुस्तक ‘कर्मा कोला’ लिखी, जो भारतीय आध्यात्मिकता और इसके बारे में पश्चिमी दुनिया की धारणा पर निबंधों का एक संग्रह है।जनवरी 2019 में, भारत सरकार ने उन्हें साहित्य और शिक्षा के क्षेत्र में पद्म श्री से सम्मानित किया, जिसे उन्होंने यह कहते हुए अस्वीकार कर दिया कि पुरस्कार के समय के कारण इसे गलत समझा जा सकता है क्योंकि यह आम चुनाव से ठीक पहले आया था।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments