Homeदेशपकिस्तान ने भारत पर पत्र जारी कर जनसांख्यिकीय बाढ़ का लगाया आरोप

पकिस्तान ने भारत पर पत्र जारी कर जनसांख्यिकीय बाढ़ का लगाया आरोप

पाकिस्तान ने जम्मू और कश्मीर पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के साथ एक और पत्र दायर किया है, जिसमें भारत पर आरोप लगाया है कि वह इस क्षेत्र में इंजीनियर ‘जनसांख्यिकीय बाढ़’ के लिए महामारी का लाभ उठा रहा है। पिछले अगस्त के बाद यह नौवां ऐसा पत्र है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी द्वारा हस्ताक्षरित, और यूएनएससी अध्यक्ष को दिया गया, पत्र का दावा है कि भारत सरकार द्वारा जम्मू और कश्मीर पुनर्गठन आदेश 2020 ’के तहत घोषित किए गए नए नियम वैश्विक स्वास्थ्य संकट के समय विशेष रूप से निंदनीय’ हैं।

नियम भारतीय नागरिकों को जम्मू-कश्मीर में अधिवास का दर्जा पाने की अनुमति देते हैं यदि वे 15 साल से वहां रह रहे हो तो । कुरैशी का दावा है कि यह कदम सत्तारूढ़ पार्टी के ‘पापी’ हिंदुत्व के एजेंडे का हिस्सा है, इसकी तुलना कब्जे वाले क्षेत्रों में इंजीनियरिंग यहूदी बस्तियों की इजरायल नीति से की जाती है।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments