झारखण्ड : तेजी से बढ़ रही डेंगू के मरीजों की संख्या,डेंगू और चिकुनगुनिया के 1000 से अधिक मामले,केंद्र द्वारा मच्छरदानी भेजने का स्वास्थ्य विभाग को इंतजार

Estimated read time 1 min read

रांची में डेंगू के मरीजों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। रांची में मरीजों की संख्या बढ़कर अब 56 के आंकड़े को पार कर रही है। वहीं, झारखंड के ग्रामीण इलाकों में भी धीरे- धीरे डेंगू और चिकनगुनिया पैर पसार रहा है। पूरे राज्य में अब तक विभिन्न जिलों में 7356 लोगों के स्वास्थ्य की जांच के क्रम में डेंगू के 732 रोगियों की पुष्टि हो चुकी है। इसके अलावे चिकुनगुनिया के 223 मरीज मिले हैं। एक दर्जन से ज्यादा जिले डेंगू और कम से कम 10 जिले चिकनगुनिया की चपेट में हैं।इलाज करा रहे मरीजों के प्लेटलेट्स कम हो गए हैं।डेंगू और चिकनगुनिया के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजधानी रांची में प्लेटलेट्स की मांग बढ़ गयी है. रांची में हर दिन करीब 10 यूनिट प्लेटलेट्स की जरूरत होती है.आंकड़ों के मुताबिक जुलाई में जहां प्लेटलेट्स की जरूरत 96 यूनिट थी, वहीं अगस्त से यह बढ़कर 252 यूनिट हो गई है। रांची के 18 ब्लड बैंकों में से 11 में एक भी यूनिट प्लेटलेट्स उपलब्ध नहीं है. सात निजी ब्लड बैंकों में 66 यूनिट प्लेटलेट्स उपलब्ध हैं। हालांकि, यहां भी इसकी गारंटी नहीं है कि समय पर प्लेटलेट्स मिल जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि केंद्र से जिलों के लिए 30 लाख मेडिकेटेड मच्छरदानी की मांग की गयी है। केंद्र ने दो चरणों में राज्य को 78 लाख से अधिक मच्छरदानी भेजने की बात कही है .पहले चरण में 15,84,000 और दूसरे चरण में 62,84,557 मच्छरदानी दिसंबर महीने तक भेजने की बात कही गई है .उससे पहले जिलों में मरीजों की संख्या और कितने व किस जिलें में अब तक मेडिकेटेड मच्छरदानी बांटी गयी है या कितनी बांटी जानी है, इसका डाटा तैयार कर भेजा जाना है .मालूम हो की मच्छर जनित बीमारियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए राजधानी रांची के सरकारी अस्पतालों में विशेष व्यवस्था की गयी है. रिम्स और सदर अस्पताल में डेंगू मरीजों के इलाज के लिए अलग से व्यवस्था की गयी है. रिम्स में जहां 50 बेड हैं, वहीं सदर अस्पताल में 36 बेड की व्यवस्था की गयी है.साथ ही राज्य वेक्टर जनित रोग कार्यक्रम की ओर से डेंगू की रोकथाम के लिए जिलों को दिशा-निर्देश जारी किये गये हैं. टीम घर-घर जाकर मच्छरों के लार्वा को भी नष्ट कर रही है। नगर निगम ने लार्वा की जांच के लिए 10 टीमें बनाई हैं।

You May Also Like

More From Author

+ There are no comments

Add yours