rural department development

रांची:ग्रामीण विकास सचिव श्री प्रशांत कुमार ने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिया है कि पूर्व से चल रही योजनाओं की सतत निगरानी करते रहें। वहीं कुशल वित्तीय प्रबंधन और प्रशासनिक सुधार की पहल करने को भी कहा। उन्होंने सरकारी खर्च पर पैनी नजर रखने और उसे युक्तिसंगत बनाने पर भी जोर दिया। ये बातें सचिव ग्रामीण विकास विभाग श्री प्रशांत कुमार ने कही। सचिव योजनावार बजट के विरुद्ध खर्च की गई राशि का विवरण, योजना बजट के विरुद्ध निर्गत स्वीकृति आदेश और व्यय की स्थिति की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे।

सौर ऊर्जा की दिशा में कार्य करने की जरूरत

सचिव ग्रामीण विकास विभाग श्री प्रशांत कुमार ने कहा कि आज पूरी दुनिया सौर ऊर्जा की ओर बढ़ रही है। झारखण्ड में भी इसपर कार्य शुरू करें। छोटे स्तर पर इसकी शुरुआत करें। सिंचाई के क्षेत्र में छोटे पैमाने पर इसका उपयोग हो रहा है। अब माइनर इर्रिगेशन पर भी विभाग ध्यान केंद्रित करें। इस दिशा में बेहतर परिणाम प्राप्त किया जा सकता है।

इन बिंदुओं पर हुई चर्चा

बैठक में सचिव श्री प्रशांत कुमार ने वितीय वर्ष 2022-23 में योजना के विरुद्ध निर्गत स्वीकृति आदेश, आवंटन आदेश, व्यय की स्थिति, विभाग द्वारा संचालित मुख्य योजनाओं के कार्यान्वयन की अद्यतन स्थिति, योजनाओं की स्वीकृति तथा उनके कार्यान्वयन की स्थिति, भारत सरकार से राशि की प्राप्ति एवं उसके व्यय की अद्यतन स्थिति की जानकारी एवं आगामी बजट की तैयारी को लेकर निदेश दिया।

बैठक में मनरेगा आयुक्त श्रीमती राजेश्वरी बी, विशेष सचिव श्री रामकुमार सिन्हा, संयुक्त सचिव श्री अरुण कुमार सिंह , अवर सचिव श्री चंद्रभूषण , उप सचिव श्री प्रमोद कुमार समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here