Homeझारखण्डप्रियंका गाँधी ने प्रत्याशी यशस्विनी सहाय के पक्ष में चुनावी सभा को...

प्रियंका गाँधी ने प्रत्याशी यशस्विनी सहाय के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया

राजधानी रांची के हाई टेंशन मैदान में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गाँधी ने कांग्रेस प्रत्याशी यशस्विनी सहाय के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित किया।प्रियंका गाँधी ने कहा आज देश में 45 साल में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है।आज लोग पढ़े-लिखे हैं, लेकिन उन्हें रोजगार नहीं मिल रहा।अगर युवाओं को रोजगार मिलता तो हम वर्क फोर्स और मैन्युफैक्चरिंग में चीन का मुकाबला कर सकते हैं।ये हमारे देश की सबसे बड़ी समस्या है।ये बिरसा मुंडा जी, रघुनाथ महतो जी, राजा जगन्नाथ धल जी और सिद्धो कान्हू जी की धरती है। जब हमारी आजादी की लड़ाई शुरू भी नहीं हुई थी, तब ये नेता अंग्रेजी हुकूमत के सामने खड़े हुए और लड़े।आपको अपनी धरती पर गर्व होना चाहिए। जिसमें ऐसे नेता जन्में जो सदियों पहले आपके अधिकारों के लिए लड़े।हमारी आजादी का आधार यहीं रखा गया, जिसपर लोकतंत्र खड़ा हुआ।संविधान आपको वोट का अधिकार, आंदोलन का अधिकार, भोजन का अधिकार, शिक्षा का अधिकार, आरक्षण का अधिकार देता है। संविधान देश में लोकतंत्र को बचाकर रखता है।अगर देश में लोकतंत्र नहीं रहेगा, तो आप अपनी आवाज कैसे उठाएंगे? आज लोग सत्ता हासिल करने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं।चुनी हुई सरकार को पैसे और ताकत के बूते गिराया जा रहा है। पार्टियों के बैंक खाते सीज किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्रियों को जेल में डाला जा रहा है। ये लोग सत्ता पाने के लिए जनमत और लोकतंत्र के बारे में नहीं सोच रहे। नरेंद्र मोदी आपके सामने महंगाई और बेरोजगारी की बात तक नहीं करते। वह कहते हैं- कांग्रेस पार्टी जातिगत जनगणना कर आपकी भैंस ले लेगी। ऐसे बयान पर आपको सिर्फ हंसी आ सकती है। PM मोदी, जनता को अपने 10 साल की उपलब्धि बताइए। गरीबों को 5 किलो राशन देना नरेंद्र मोदी की मजबूरी है।कांग्रेस पार्टी ‘भोजन का अधिकार’ लेकर आई थी, जिसका मतलब है- हर गरीब परिवार को राशन मिलेगा। राशन मिलना आपका कानूनी हक है, इसलिए मोदी सरकार आपको राशन देती है। नरेंद्र मोदी ने सिर्फ राशन के पैकेट पर अपनी फोटो चिपका दी और मीडिया वालों ने इसे मास्टर स्ट्रोक बता दिया। नरेंद्र मोदी ‘अग्निवीर योजना’ लाते हैं। 4 साल के लिए सेना में नौकरी करो और 4 साल बाद वापस घर लौटकर दूसरी नौकरी ढूंढो। वहीं अगर शहीद हो गए तो न शहीद का दर्जा मिलेगा और न पेंशन मिलेगी।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments