Homeमनोरंजनकंगना रनौत के बयान को लेकर गरमाई महाराष्ट्र की सियासत, संजय राउत...

कंगना रनौत के बयान को लेकर गरमाई महाराष्ट्र की सियासत, संजय राउत के बाद आठवले ने किया बड़ा ऐलान

Kanganफिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के मुंबई को लेकर दिए गए बयान को लेकर महाराष्ट्र में सियासत गरमा गई है। कांगेस और एनसीपी ने जहां कंगना के साथ भाजपा को घेरने की कोशिश की है तो वहीं शिवसेना सांसद संजय राउत और कंगना के बीच सोशल मीडिया पर वाकयुद्ध शुरू हो गया है। तो वहीं, इस वाकयुद्ध में केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्य मंत्री रामदास आठवले भी कूद पड़े है। रामदास आठवले ने कहा कि कंगना रनौत को भी अपनी बात कहने व मुंबई में रहने का अधिकार है। कंगना ने जो भी कहा है, उसमें मुंबई व मुंबई पुलिस के बारे में कुछ नहीं है,यह सब राज्य सरकार के विरोध में है। आठवले ने कहा कि कंगना को रिपब्लिकन पार्टी आफ इंडिया के कार्यकर्ता पूरा सुरक्षा देंगे। रामदास आठवले ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि राज्य में मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की सरकार है। इसलिए शिवसेना प्रवक्ता संजय राऊत कंगना रनौत को धमकी दे रहे हैं। जबकि कंगना रनौत ने जो कुछ बोला है, वह राज्य सरकार के विरोध में बोला है। लोकशाही में हर नागरिक को अपनी बात कहने का अधिकार है, इसलिए कंगना रनौत को बोलने से कोई रोक नहीं सकता है। कंगना अगर 9 सितंबर को मुंबई आती हैं तो उनकी पार्टी के कार्यकर्ता उन्हें पूरी तरह से सुरक्षा देने वाले हैं। वहीं, कांग्रेस का आरोप है कि कंगना भाजपा की भाषा बोल रही हैं। यही कारण है कि भाजपा भी कंगना के बयान का समर्थन कर रही है। कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता सचिन सावंत ने भाजपा विधायक राम कदम का नार्को टेस्ट कराने और भाजपा द्वारा माफी मांगने की मांग की है। सावंत ने कहा कि कंगना रनौत और भाजपा की आईटी सेल एक साथ काम कर रही है। कंगना ने 13 करोड़ महाराष्ट्र के लोगों, 106 शहीदों, रानी लक्ष्मीबाई और मुंबई के चाहने वालों का अपमान किया है। राम कदम के नार्को टेस्ट किया जाना चाहिए। अगर राम कदम को ड्रग्स सप्लाई की इतनी जानकारी है, तो उनका नार्को टेस्ट जरूरी है। साथ ही भाजपा और संदीप सिंह का कनेक्शन भी सामने आना चाहिए। महाराष्ट्र शिवाजी की धरती है, भाजपा की ओर से महाराष्ट्र का अपमान किया जा रहा है। किसी भी भाजपा नेता ने कंगना के बयान की आलोचना नहीं की है। ऐसे में नेता विपक्ष देवेंद्र फडणवीस सहित भाजपा को कंगना का साथ देने के लिए राज्य की जनता से माफी मांगें। इधर कंगना रनौत के बयान को लेकर भाजपा में मतभेद सामने आया है। जहां पार्टी विधायक राम कदम ने कंगना को रानी लक्ष्मीबाई बताया है, तो वहीं भाजपा विधायक आशीष शेलार ने कंगना के बयान की जमकर आलोचना की है। शेलार ने कहा कि हम मुंबई पर कंगना रनौत के बयान का समर्थन नहीं करते हैं। हम देख रहे हैं कि अभिनेता सुशांत सिंह मौत की जांच किस तरह से चल रही है और अंतिम निष्कर्ष निकलने से पहले ही सभी नेताओं द्वारा इसे लेकर कुछ अन्य दिशाओं में प्रयास किए जा रहे हैं। शेलार ने आगे कहा कि कंगना को मुंबई, महाराष्ट्र और यहां के लोगों को आज़माना नहीं चाहिए। कंगना मुंबई और महाराष्ट्र को मत सिखाओ। शेलार ने शिवसेना सांसद संजय राउत पर हमला बोलते हुए कहा कि सुशांत सिंह केस की जांच में बाहर आ रही सूचनाओं का सहारा लेकर राउत को जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।
दूसरी ओर कंगना रनौत और शिवसेना सांसद संजय राउत के बीच सोशल मीडिया पर वाकयुद्ध थमने का नाम नहीं ले रहा है। राउत ने पलटवार किया है कि मुंबई मराठियों के ही बाप की है। जो लोग इससे सहमत नहीं हैं, उन्हें अपने पिता को दिखाना चाहिए। शिवसेना ऐसे महाराष्ट्र के दुश्मनों को श्रद्धांजलि दिए बिना नहीं रहेगी। वादा, जय हिंद जय महाराष्ट्र। इससे पहले कंगना ने ट्वीट किया था कि कुछ लोगों ने मुझे मुंबई नहीं आने की धमकी दी है। फिर भी मैं मुंबई आऊंगी। अगर किसी के बाप में हिम्मत है, तो मुझे रोककर दिखा दे। राउत ने अब कंगना पर पलटवार किया है।याद दिला दें कि बीते दिनों कंगना ने शिवसेना सांसद संजय राउत की धमकी का हवाला देते हुए मुंबई की तुलना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से की थी। सुशांत सिंह केस को लेकर कंगना रनौत लगातार मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र सरकार के खिलाफ ट्वीट कर रही हैं और सुशांत सिंह केस में लापरवाही बरतने, ड्रग्स कनेक्शन से बॉलीवुड के चिन्हित स्टार्स को बचाने का आरोप लगा रही हैं। ranjana pandey

RELATED ARTICLES
- Advertisment -

Most Popular

Recent Comments