जम्मु कश्मीर में सबसे बड़ा रेलवे ब्रिज बनाने की तैयारी , पुल में होगी विस्फोट एवं भूकंप रोधी खूबियां

Estimated read time 1 min read

JAMMUभारत के जम्मू कश्मीर में दुनिया का सबसे ऊंचा रेलवे पूल अगले साल तक बन के तैयार हो जाएगा। रियासी जिले में चिनाब नदी पर बनाया जा रहा यह पुल एफिल टावर से लगभग 35 मीटर ऊंचा होगा।प्रोजेक्ट मैनेजर डिप्टी चीफ इंजीनियर आरआर मलिक नें बताया है की निर्माण पूरा करने की डेडलाइन अगस्त,2022 है।इस सवाल के जवाब में कि दुनिया के सबसे ऊंचे पुल का निर्माण कितना कठिन है तो मलिक ने कहा,‘इस तरह के इलाके में ऐसा पुल बनाना आसान काम नहीं है’।यह कश्मीर घाटी को कटरा और देश के बाकी हिस्से से जोड़ेगा।इसके तैयार होने के बाद जम्मू स्थित कटरा से श्रीनगर की यात्रा का समय 5-6 घंटे कम हो जाएगा।
वैष्णो देवी मंदिर के लिए प्रसिद्ध जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले को उम्मीद है कि पुल का निर्माण होने के बाद पर्यटन में तेजी देखने को मिलेगी। यह अपनी तरह का अकेला पुल है जिस पर इस पर हेलीपैड भी होगा। इससे दिल्ली से लोगों के लिए हेलिकॉप्टर से यहां आना संभव हो पाएगा। पुल स्थानीय लोगों के लिए रोजगार के दरवाजे खोलेगा और अर्थव्यवस्था में भी मजबूती आएगी। इस रेलवे पुल की कुल लंबाई 1.3 किमी लंबी है और यह रिक्टर स्केल पर 7 या उससे अधिक के तीव्रता वाले भूकंप को झेलने की क्षमता रखता है। कोंकण रेलवे कॉर्पोरेशन लिमिटेड द्वारा यह प्रोजेक्ट विकसित किया जा रहा है और यह उधमपुर-श्रीनगर-बारामूला रेल लिंक परियोजना का हिस्सा है।
गौरतलब है कि सुरक्षा चिंताओं सहित कई मुद्दों के चलते इस महत्वाकांक्षी परियोजना में पहले से ही काफी विलंब हो चुका है। हालांकि,अब उम्मीद की जा रही है कि प्रोजेक्ट 2022 में पूरा हो जाएगा। यह अपनी तरह का अनोखा रेलवे पुल होगा। विस्फोट एवं भूकंप रोधी गुणों के साथ ही इसमें एक यूनिक सिग्नल प्रणाली भी होगी,ताकि इतनी ऊंचाई पर तेज हवाओं का ट्रेन पर कोई प्रभाव नहीं पड़े।

You May Also Like

More From Author