डीजल और पेट्रोल की कीमतों में इजाफे का सिलसिला थमा, 22वें दिन नहीं बढ़े दाम

Estimated read time 1 min read

कोरोना की महामारी के कारण लागू हुए लॉकडाउन ने सभी लोगो की जेब पर बहुत बुरा प्रभाव डाला है और जो कमी रह गई थी अब वो भी पूरी होजाएगी क्योकि पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हर दिन इजा हो रहा है जिस कारण महंगाई और बढ़ रही है। 21 दिन से हर रोज डीजल और पेट्रोल की कीमतों में इजाफे का सिलसिला सा चल रहा था, जो रविवार को थम गया , रविवार को यानी 22वें दिन डीजल और पेट्रोल के दाम नहीं बढे।

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में पेट्रोल 80.38 रुपये प्रति लीटर और डीजल 80.40 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है. पिछले 21 दिन तक हर रोज कीमतों में इजाफे के कारण अब तक डीजल 11 रुपये प्रति लीटर तक महंगा हो चुका है। वहीं, पेट्रोल की कीमतें भी 9 रुपये प्रति लीटर से अधिक बढ़ गई हैं. डीजल-पेट्रोल की कीमतों में हर रोज इजाफे के कारण देश में इसे भी जीएसटी के दायरे में लाने की मांग भी जोर पकड़ने लगी है।

डीजल-पेट्रोल की कीमतों में लगातार इजाफे को लेकर कांग्रेस समेत अन्य विपक्षी दलों ने भी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। ऐसे समय में जब जनता संकट से जूझ रही है, कांग्रेस ने डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ाने की आलोचना की थी।

You May Also Like

More From Author