Estimated read time 1 min read
झारखण्ड मुख्य खबर

प्रवासी मजदूरों पर हमले की फर्जी खबर छापने पर दैनिक भास्कर समेत कई रिपोर्टरों, नेताओं और मीडिया हाउसों के खिलाफ मुकदमा दर्ज,BJP तमिलनाडु के चीफ भी शामिल

तमिलनाडु पुलिस ने हिंसा की फर्जी खबर छापने पर दैनिक भास्कर समेत कई रिपोर्टरों, नेताओं और मीडिया हाउसों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। इन सभी ने हिंसा के बारे में फर्जी अफवाहें और पुराने वीडियो फैलाये, और भाषा की समस्या से जूझ रहे हिन्दी-भाषी प्रवासी मजदूरों ने उसे सच मान लिया।पुलिस द्वारा जानकारी के अनुसार सुप्रीम कोर्ट में बीजेपी प्रवक्ता और वकील प्रशांत उमराव, एक राष्ट्रीय मीडिया संस्थान के संपादक और पटना के पत्रकार के विरुद्ध मामला दर्ज किया गया है।मालुम हो कि उत्तर भारतीय श्रमिकों पर हमले की सोशल मीडिया पर फेक न्यूज के बाद तमिलनाडु में काम कर रहे प्रवासी कामगारों के बीच पूरे राज्य में हड़कंप मच गया था। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को “हमलों” के कथित वीडियो पर ध्यान देने के बाद दहशत फैल गई थी। बिहार सीएम ने राज्य के मुख्य सचिव और डीजीपी को तमिलनाडु सरकार के अधिकारियों से बात करने और अपने राज्य के मजदूरों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का निर्देश दिया था।