मरकज़ से लौटे मंत्री ने कहा की हम दिल्ली गए ही नहीं

Estimated read time 1 min read

लॉकडाउन के नौंवे दिन बाजारों में अन्य दिनों के मुकाबले कम भीड़ देखी गई लेकिन , कुछ जगहों पर रामनवमी के पावन अवसर पर चहल पहल भी देखने को मिली । तबलीगी मरकज में शामिल होकर लौटे हेमंत सोरेन मंत्रिमंडल में शामिल हाजी हुसैन के बेटे का भी नाम शामिल है। मंत्री परिवार को पुरे परिवार समेत होम क्वारैंटाइन पर रखागया है । प्रशासन के निर्देश अनुसार तबलीगी मरकज में शामिल होकर राज्य लौटने वाले जमातियों के खिलाफ पुलिस का सख्त एक्शन अभी भी जारी है।

हाजी हुसैन अंसारी के बेटे का इंकार

 

दिल्ली में तब्लीगी जमात के मुख्यालय मरकज से झारखंड लौटने वाले मंत्री हाजी हुसैन अंसारी के बेटे का नाम भी शामिल है। लेकिन फिर भी मंत्री व उनके बेटे दोनों ने ही इस बात से साफ इनकारकर कर दिया। हाजी हुसैन अंसारी के बेटे का कहना है कि वे 1993 के बाद कभी दिल्ली गए ही नहीं है । हालांकि मंत्री व उनके पुत्र दोनों ही इस बात से साफ इनकार कर रहे है। मंत्री हाजी हुसैन अंसारी अपने बेटे मोहम्मद तनवीरुल हसन के साथ थाना पहुंचे और वो यह दावा भी कर रहे है कि उनके पुत्र का तबलीगी जमात से कोई लेनादेना नहीं है। राज्य पुलिस की विशेष शाखा ने सभी जिलों के डीसी को तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों की सूची सौंपी दी थी। हाजी हुसैन अंसारी के बेटे व सूची के दूसरे व्यक्ति मोहम्मद अब्बास का ब्लड सैंपल कोरोना के जांच के लिए रिम्स भेजा गया है। मंत्री के होम क्वारेंटाइन में जाने के बाद कुछ सवाल भी उठने लगे है कि बाकि सभी कैबिनेट व अन्य विधायक जो भी उनके संपर्क में आए है क्या उनकी भी जांच करवाई जाएगी।

You May Also Like

More From Author