इस कंपनी के इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की है जबरदस्त डिमांड, 1 महीने में बेची 1000 से ज्यादा यूनिट

Estimated read time 1 min read

Scootyदेश में लॉकडाउन 5 (Lockdown-5) और अनलॉक-1 (Unlock-1) के साथ ही ओकिनावा ऑटोटेक (Okinawa Autotech) ने भारत में 1000 से ज्यादा इलेक्ट्रिक स्कूटर्स (Electric Scooters) की बिक्री की है. कंपनी ने केंद्र सरकार के आदेश के बाद एक बार फिर शोरुम खोले और उत्पादन चालू किया. अनलॉक-1 में 350 से ज़्यादा ऑपरेशनल डीलर्स में से सिर्फ 70 प्रतिशित डीलर्स को कार्य शुरू करने की अनुमति दी गई है. कंपनी ने उप्तादन प्रक्रिया चालू करने के एक महीने के अंदर 1200 से ज़्यादा इलेक्ट्रिक स्कूटर्स डिस्पैच करने का दावा किया है.वित्त वर्ष 2020 में सबसे ज़्यादा किया सेल्स- ओकिनावा ने कहा कि कंपनी अपने उत्पादों की साफ़-सफाई का पूरा ध्यान रख रहा है. पहले असेंबली लाइन में उसके बाद स्कूटर्स की डीलर स्तर पर भी सफाई की जाती हैं. ग्राहकों को आपूर्ति करने से पहले भी स्कूटर्स की सफाई की जाती है. ओकिनावा डीलरशिप में कर्मचारियों तथा ग्राहकों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाती है.कंपनी का कहना है कि जहां तक भारत में हाई स्पीड इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की बिक्री की बात है, कंपनी ने वित्त वर्ष 2020 में सबसे ज़्यादा सेल्स किया और वह टॉप पर है. इस दौरान कंपनी ने 10000 से ज़्यादा की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया हैं. ओकिनावा ने हाल ही में एक स्कूटर कलर कस्टोमाईजेसन कार्यक्रम शुरू किया है.ऑनलाइन सिलेक्ट कर सकते हैं अपनी पसंद के कलर- ओकिनावा की वेबसाइट में जाकर अपनी पसंद के कलर का लिस्ट में सिलेक्शन किया जा सकता है. कंपनी स्कूटर को फिर उसी हिसाब से तैयार करती है और फिर ग्राहकों को देती है. RC में कलर चेंज का डिटेल्स मेंशन किया हुआ है. अगर रेगुलर पेंट की बात की जाए तो इसमें 15000 रूपए से ज़्यादा का खर्च आता है और यह पेंटिंग हाथ से की जाती है.ओकिनावा के मैनेजिंग डायरेक्टर जितेन्द्र शर्मा ने कहा की इलेक्ट्रिक स्कूटर्स की मांग को देखते हुए लगता है कि इलेक्ट्रिक टू व्हीलर्स में लोगो की काफी दिलचस्पी हैं. उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण के बाद पर्सनल ट्रांसपोर्ट का उपयोग काफी बढ़ेगा और इसी जगह पर इलेक्ट्रिक स्कूटर्स का बेनिफिट है. यह काफी सस्ती है और मेंटेनेंस भी कम है.Ranjana pandey

You May Also Like

More From Author