लाठी-डंडे या फिर आंसू गैस से कोरोनावायरस का इलाज नही-इरफान , पुलिस जनता की सेवा के लिए है, मारपीट एवं गाली गलौज के लिए नहीं

Estimated read time 1 min read

सरकार की छवि खराब करने वाले नहीं बख्शें नही जाएंगे
_________

हिंदपीढ़ी में सीआरपीएफ जवानों के बर्बरतापूर्ण रवैया पर जामताड़ा विधायक डॉ इरफान अंसारी ने कहां की पुलिस प्रशासन के कारण सीधे तौर से सरकार की छवि को धूमिल कर रहा है। कोरोना माहमारी के इस संकट में जिस प्रकार यह लोग खासकर एक संप्रदाय के खिलाफ जानबूझकर ऐसे पेश आते हैं मानो जैसे कोरोना इन लोगों ने ही लाया है। इन्हें संदिग्ध के निगाहों से देखा जाता है जो सरासर गलत और अमानवीय है और इसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। कोरोना एक बीमारी है जिससे हम सभी को एक होकर लड़ने की जरूरत है। लाठी और डंडे से कोरोना नहीं भाग जाएगा।इस नाजुक स्थिति में बाहर निकलने वाले को समझाया भी तो जा सकता है। अगर कोई जानबूझकर करता है तो उन पर आँसू गैस,डंडा परेड न करके मामला दर्ज करे, अगर कोई जायज बाहर निकला है तो उसकी सहायता करें। लेकिन इन दिनों ये जो हो रहा है वो सरकार की छवि के लिए घातक है।

*आगे विधायक जी ने कहा की लोगों का सरकार पर आरोप है कि जिन लोगों की बजह से सरकार सत्ता मे आयी है और हमारा एक बड़ा योगदान रहा, विपत्ति में उन्ही लोगो को सरकार का पुलिस प्रशासन कर्फ्यू में अपनी शक्तियों का प्रयोग कर दौड़ा दौड़ा कर पीटने से समाज मे दहशत का माहौल पैदा कर रहा है जो सीधे तौर से सरकार की छवि को धूमिल कर रहा है। ऐसी स्थिति में एक तरफ जहां भाजपा वाले हमारे दुश्मन बने हुए हैं और जलील कर रहे हैं तो दूसरी तरफ राज की हेमंत सरकार को चाहिए कि वह आगे आए और हमें संरक्षण दें I

You May Also Like

More From Author