पोर्न का स्क्रीनशॉट लगा कर जामिया की सफुरा जरगर को किया बदनाम , गर्भधारण को लेकर की जा रही थी टिप्पणियाँ

Estimated read time 1 min read

जामिया की विद्वान सफूरा ज़रगर की गिरफ़्तारी ने अश्लील और गलत टिप्पणियों को जन्म दिया है । ज़रगर माँ बनने वाली है ऐसे स्थिति में है सहानभूति मिलनी चाहिए वही ज़रगर की गर्भावस्था अपमानजनक संदेशो से भरी है। ऑल्ट न्यूज़ ने इससे पहले एक वायरल दावे को खारिज कर दिया था जिसमें कहा गया था कि जरगर अविवाहित हैं। इस बात के बावजूद कि एक महिला गर्भधारण का विकल्प कैसे चुनती है, जरगर की शादी को लगभग दो साल हो चुके हैं और वह कैद के समय गर्भवती थी। वह नागरिकता कानून के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का एक हिस्सा थी और दिल्ली पुलिस ने गैरकानूनी गतिविधि (रोकथाम) अधिनियम या यूएपीए के तहत दर्ज किया था।

अब, एक विरोधी सीएए रक्षक की एक तस्वीर वायरल है जिसमें दावा किया गया है कि वह जर्गर है। इस तश्वीर में उसके गाल पर लिखा हुआ है –“फ़क हिन्दू राष्ट्र”।स्क्विंट नियोन @ द एसइंड, एक हैंडल जो नियमित रूप से गलत जानकारी साझा करता है, ने छवि लेखन को ट्वीट किया, “वह उसके बाद गर्भवती हुई?”

एक फेसबुक उपयोगकर्ता अपूर्वा डेका ने इसी तरह लिखा, “उसने अपने गाल पर फ़क हिन्दुराष्ट्र “लिखा और अब हम यह जानना चाहते हैं कि क्या हिन्दुराष्ट्र ने उसे गर्ववती किया?” उसने महिला की पहचान जरगर के रूप में की।

इसी तरह का दावा इंस्टाग्राम पर शेयर हो रहा है। छवियों का एक कोलाज बनाया गया है जिसमें एक बाड़ के पीछे संभोग करने वाले जोड़े की तस्वीर भी शामिल है। एक अन्य पेज ‘fuck_secular_india’ ने एक ही फ़ोटो असेंबल साझा किया।

इस तस्वीर और विवादों की तेह तक जाने के लिए The News Mirchi ने Atl News के वेब पोर्टल का सहारा लिया तो हमे यह पता चला की जिस महिला का गाल एंटी-सीएए स्लोगन से रंगा हुआ है, वह सफोरा जरगर नहीं है। वह दिल्ली विश्वविद्यालय में छात्रा है। जबकि जरगर जामिया मिल्लिया इस्लामिया में एक विद्वान हैं। बाड़ के पीछे यौन संबंध रखने वाले एक जोड़े की तस्वीर एक पुराने अश्लील वीडियो से एक स्क्रीनशॉट है ।

कोई भी ऐसा पोस्ट जो किसी को अपमानित कर सकता है ,उसकी सच्चाई जाने बिना किसी को भी कोई भी पोस्ट को शेयर नहीं शेयर करना चाहिए ।

You May Also Like

More From Author