लॉक डाउन समाप्त होने पर सरकार विभिन्न वर्गां को आर्थिक पैकेज देने की बात सोच रही है

Estimated read time 1 min read

कोरोना वायरस के वजह से लगे देशव्यापपी लॉक डाउन में राज्य सरकार का मुख्य ध्यान मुश्किल में फंसे लोगों को भोजन और स्वास्थ्य की सुविधा उपलब्ध कराने की है। झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष सह खाद्य आपूर्ति मंत्री डॉक्टर रामेश्वर उरांव शनिवार को रांची स्थित कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी द्वारा गठित राहत निगरानी समिति (कोविड-19) की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा है की लॉकडाउन की अवधि समाप्त होने के बाद सरकार विभिन्न वर्गां को आर्थिक पैकेज उपलब्ध कराने के मसले पर विचार करेगी। डॉ रामेश्वर उरांव शनिवार को रांची स्थित कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी द्वारा गठित राहत निगरानी समिति (कोविड-19) की बैठक के बाद मीडिया से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया की लॉक डाउन में सरकार ने गरीब परिवारों और ज़रूरतमंदो को राहत पहुंचने के लिए कई कदम उठाए है । सरकार की ओर से जिला और प्रखंड स्तर पर पार्टी की तरफ से राहत निगरानी समिति का गठन किया गया है जिससे सरकार निगरानी कर सके की जमीनी स्तर पर सरकार की योजनाएं किस तरह उत्तरी है । सरकार ,लोगों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रयास कर रही है । उनका कहना है की अनेक जगहों से फ़ोन आ रहे है ,पार्टी के नेता-कार्यकर्त्ता और आमजनों की ओर से कठिनाई और सुझाव प्राप्त हो रहे है।

प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने बताया कि मुख्यालय में बनाये गये कंट्रोल रूप में पिछले दो दिनों से लगातार सैकड़ों फोन आ रहे है। रामगढ़ जिले के भुईंयाटोली से जानकारी मिली है कि क्षेत्र के लोग बाहर नहीं निकल पा रहे है, जिस कारण उनके सामने भोजन का संकट आ खड़ा हुआ है ।उनका यह कहना है की तुरंत ही जिले के उपायुक्त को सूचना देकर उनसभी के लिए भोजन की व्यवस्था करवा दी गई । इसी तरह से रांची के सीआरपीएफ कैंप के निकट बस्ती में रह रहे लोगों ने भोजन उपलब्ध कराने का निवेदन किया और वहां भी बिना देरी के सहायता उपलब्ध करा दी गयी। उन्होंने बताया कि कंट्रोल रूम को यह जानकारी मिली है कि कई दूसरे जगहों पर दाल-भात केंद्र और खिचड़ी केंद्र बनाये जाने की जरूरत आन पड़ी है। इस संबंध में लगातार अधिकारियों से संपर्क कर अधिक से अधिक लोगों को मदद पहुंचाने की कोशिश की जा रही है। सरकार के साथ-साथ पार्टी स्तर पर भी राहत कार्य चलाने के लिए कार्य शुरू किए जा रहे हैं।

You May Also Like

More From Author