कोरोना के 2 केस झारखण्ड में आने के बाद भी लोग कर रहे लापरवाही

Estimated read time 1 min read

झारखंड में अब तक कोरोनावायरस से संक्रमित दो मरीज आने के बाद भी लोगों की बुद्धि सुधर नहीं रही है। देशव्यप्पी लॉकडाउन के 10 वें दिन शुक्रवार को सब्जी मंडियों में रोजाना की तरह भीड़ जुटी है। रांची, जमशेदपुर, धनबाद, पलामू, गढ़वा, लोहरदगा समेत तमाम जिलों में अधिकतर जगहों पर लोग अभी भी सोशल डिस्टन्सिंग को मेन्टेन नहीं कर रहे है। भीड़ में भी लोगो को याद ही नहीं की उन्हें मास्क भी पहनना चाहिए । राज्य में दो संक्रमित मरीज़ मिलने बाद भी लोग पुलिस प्रशासन के निर्देशों का पालन न कर खुद की और दुसरो की जान को खतरे में डाल रहे है । लोगों की ये लापरवाही हजारों की जान को मुश्किल में डाल सकती है।

राज्य में अबतक कोरोना के कुल 529 संदिग्धों का ब्लड सैंपल लिया जा चुका है जिनमें दो की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जबकि 382 की रिपोर्ट निगेटिव है। कुल सैंपलों में 146 की रिपोर्ट आनी बाकी है।कोरोना की पहली मरीज़ रांची के हिंदपीढ़ी में ठहरी मलेशिया युवती है ,और दूसरा हज़ारीबाग का 52 वर्षीय एक व्यक्ति है ।

हज़ारीबाग के कोरोना पीड़ित के बारे में स्वस्थ्य विभाग के अधिकारियो ने बताया की मरीज़ विष्णुगढ़ के करगिलो गांव का निवासी है । वह पश्चिम बंगाल में आसनसोल के N M रोड स्थित सतनाम ट्रांसपोर्ट कंपनी में पिछले 25 साल से मोटिया मज़दूर का काम कर रहा था। उसकी तबियत खराब हो गई थी , और पुरे देश में उसी समय लॉक डाउन की घोषणा हो गई थी जिस कारण वो अपने गांव आया था उसकी बिगड़ती हालत को देख कर उसके बेटे ने गांव के स्वास्थ्य केंद्र में उसका इलाज करवाया । इलाज के वक़्त डॉक्टरों को उसमे कोरोना के लक्षण दिखे । उसे हज़ारीबाग मेडिकल कॉलेज में बने आइसोलेशन वार्ड में भेजा गया । गुरुवार को रिम्स से रिपोर्ट मेंउसकी कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि हो गई ।

जमशेदपुर और रांची के बाजारों में लोग लापरवाही की हद पार कर रहे है। जमशेदपुर के साकची, मानगो, आदित्यपुर के बाजारों और सड़कों पर रोजाना की तरह लोग उतरे। छोटे-बड़े तमाम वाहन चलते दिखे। वहीं रांची के नागाबागा खटाल, रातू रोड पर सड़क किनारे लगने वाले सब्जी बाजारों में भी लोग सब्जी खरीदने जुटे।इन्ही सेहरो में कोरोना से संक्रमित लोग मिले है मगर बहुत लोगों में जागरूकता नहीं दिख रही । बहुत लोग सरकार के निर्देशों का पालन कर रहे है मगर कुछ लोगो की लापरवाही का खामियाज़ा सभी को भुगतना पड़ सकता है ।

You May Also Like

More From Author